एप्पल ने अपने पुराने iphone स्लो होने पर मांगी माफी, बैटरी के दाम घटाए

खबरें अभी तक। नई दिल्लीः एपल कंपनी ने हाल ही में इस बात को स्वीकार किया था कि एप्प‍ल खुद ही अपने पुराने आईफोन के मॉडल्स को स्लो कर देता है. एप्पल ने माना था कि वह खुद आईफोन के प्रोसेसिंग को धीमा कर देता है जिससे आईफोन स्लो हो जाते हैं. इस खुलासे के बाद यूजर्स से मिल रही आलोचनाओं के देखते हुए एपल ने माफी मांगी है.

एप्पल का माफिनामा-

अपने बयान के आठ दिन बाद गुरूवार को एपल ने पुराने आईफोन स्लो होने के लिए अधिकारिक तौर पर माफी मांगी है. 20 दिसंबर को आई रिपोर्ट में कहा गया था कि बैटरी और प्रोसेसर में तालमेल सही रहे इसलिए पुराने आईफोन मॉडल्स खुद ही स्लो हो जाते हैं. इस बात को एपल ने स्वीकार भी किया था. अब माफी मांगते हुए एपल बैटरी रिप्लेसमेंट की कीमत में भारी कटौती कर दी है. आईफोन 6 और इसके बाद के मॉडल्स की बैटरी की कीमत 79 डॉलर ( लगभग 5056 रुपये) से घटा कर 29 डॉलर (1856 रुपये) कर दी है.

एप्पल ने 20 दिंसबर को क्या कहा था-

एप्पल ने 20 दिसंबर को कहा था कि पिछले साल हमने आईफोन 6 और आईफोन 6s के लिए अचानक बंद होने की परेशानी को देखते हुए एक फीचर रिलीज किया था. इस अपटेड की मदद से प्रोसेसर की पॉवर डिमांड को कम किया गया ताकि फोन अचानक बंद ना हो. अब हमने आईफोन 7 के लिए iOS 11.2 अपडेट में इस फीचर को दिया है.

उन्होंने बताया था कि आईफोन का प्रोसेसर पुरानी बैटरी से ज्यादा पॉवर की सप्लाई मांगता है तो बैटरी इस पॉवर डिमांड को पूरा नहीं कर पाती. इसकी वजह से डिवाइस के बाकी इलेक्ट्रॉनिक कंपोनेंट डैमेज हो सकते हैं. ऐसा ना हो इसलिए आईफोन अचानक बंद हो जाता है जिससे बाकी इलेक्ट्रॉनिक्स डैमेज नहीं होते. एपल ने इसे गलती के तौर पर स्वीकार किया. एपल की तरफ से कहा गया है कि नया iOS अपडेट  2018 में आपको मिलेगा जो कि यूजर्स को इस बात से साफ तौर पर अवगत करवाएगा कि उनकी आईफोन की बैटरी की हेल्थ कैसी है, ताकि वे अपने फोन की कंडीशन और परफॉर्मेंस के बारे में जान पाएं.

काउंट प्वॉसइंट रिसर्च के मुताबिक, एप्पल ने दुनियाभर में स्मा‍र्टफोन मार्केट में तीसरी तिमाही में 60 पर्सेंट तक प्रोफिट कमाया था.

Add your comment

Your email address will not be published.